मोमबत्ती कैसे बनाये – Mombatti Banane Ka Tareeka

0
1009
Mombatti Banane Ka Tareeka
Mombatti Banane Ka Tareeka

Mombatti Banane Ka Tareeka मोमबत्ती का उपयोग पुराने समय से होता आ रहा है. मोमबत्ती का प्रयोग इतना ज्यादा बढ़ गया है, आजकल हर कोई इसका इस्तेमाल करता है. कोई भी शुभ अवसर हो या हो कोई पार्टी हर जगह मोमबत्ती का इस्तेमाल होते हुए मिल जाएगा. जन्मदिन की पार्टी हो या शादी की सालगिरहा का शुभ आरम्भ मोमबत्ती के द्वारा ही किया जाता है. प्राचीन काल में मोमबत्ती का उपयोग घर के उजाले के रूप में करते थे. लेकिन आज कल इसका प्रयोग इतना ज्यादा नहीं रहा. दिवाली के पावन पर्व पर भी मोमबत्ती का उपयोग बड़ी मात्रा में किया जाता है. क्या आपको पता कि मोमबत्ती कैसे बनायी जाती है. आज हम आपको Mombatti Banane Ka Tareeka बतायेंगे जिसकी सहायता से आप मोमबत्ती आसानी से बनायी जा सकती है.

 

पुराने समय में मोमबत्ती बनाने के लिए मिट्टी से बने सांचे का उपयोग किया जाता था. जिस वजह से मोमबत्ती को बनाने में समय ज्यादा लगता था. थोड़ी मोमबत्ती को बनाने में समय बहुत ज्यादा लग जाता था. लेकिन आज के समय में पुराने समय से सभी परिस्थितियां बिल्कुल विपरीत है. आज के समय में मोमबत्ती को बनाने के लिए मशीन का उपयोग किया जाता है. इस मशीन के द्वारा कम समय में अधिक मोमबत्तियां बनायी जा सकती हैं. मोमबत्ती का व्यापार एक अच्छा व्यापार है इस काम में आमदनी ज्यादा है. अगर आप भी मोमबत्ती का काम करना चाहते हैं तो आपको इसकी मशीन खरीदनी पड़ेगी जिसकी कीमत लगभग 45000 रूपए से सुरु है. आप मोमबत्ती की मशीन को खरीदकर अपना व्यापार सुरु कर सकते हैं.Mombatti Banane Ka Tareeka”

अगर आप भी घर बैठे इस व्यापार को सुरु करना चाहते है तो आपको इसके लिए मोम की जरुरत पड़ेगी. मोम बाजार में उपलब्ध होगा आप वहां से खरीद सकते हैं.
मोम 45 डिग्री सेल्सियस तापमान में आकर पिघलने लगता है. इसका एक बड़ा ही रोचक किस्सा है यह पानी के साथ बिल्कुल भी नहीं घुलता लेकिन जैसे ही ये पेट्रोलियम पदार्थो के संपर्क में आता है ये घुलने लग जाता है. मोम का सबसे ज्यादा उपयोग मोमबत्ती को बनाने में किया जाता है.

Mombatti Banane Ka Tareeka
Mombatti Banane Ka Tareeka

मोम कैसे बनती है

मोम को बनाने के लिए पेड़ पौधों को भी उपयोग में लाया जाता है.पशुओं के इस्तेमाल से भी लोग मोम तैयार करते हैं. ऐसे बहुत से तरीके जिनसे मोम को बनाया जा सकता है.

मोमबती का अविष्कार: मोमबत्ती का अविष्कार पुराने समय में चीन में लगभग 200 BC पूर्व किया था.मोमबत्ती जैसे नाम से ही पता चलता है मोम + बत्ती अर्थात मोमबत्ती.जिसका मतलब की मोमबत्ती को बनाने के लिए हमें मोम और बत्ती की जरुरत पड़ती है.बिना इनके मोमबत्ती को बनाना संभव नहीं है. पुराने समय में मोमबत्ती के मोम को बनाने के लिए बड़ी मछली की चर्बी को इस्तेमाल में लाया जाता था. धीरे धीरे इसका विस्तार होता गया बाद में यूरोपीय देशो ने तेल और वसा से मोम का निर्माण किया.इसी मोम से सबसे ज्यादा मोमबत्तियां बनायी जाने लगी.

 

धीरे धीरे मोमबत्ती का उपयोग बहुत ज्यादा बढ़ने लगा और इसका इस्तेमाल रोशनी के लिए लोग करने लगे. जिस कारण इसकी मांग और भी ज्यादा बढ़ गयी थी. बाद में इसे बनाने के लिए मशीनों का उपयोग किया जाने लगा.और कम समय में ज्यादा मोमबत्ती बनने लगी. जिस कारण इसकी कीमत भी कम हो गयी. कहा जाता है 19वीं सताव्दी में लन्दन की एक कंपनी ने मोमबत्ती बनायी और यह कंपनी उस समय में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन गयी थी. बाद में मोमबत्ती को बनाने के लिए बहुत सी कम्पनियाँ आगे आई जिन्होंने तरह तरह की मोमबत्तियां बनायी. जो अलग अलग डिजाइन में और अलग अलग रंगों में थी. आजकल तो सभी तरह की मोमबत्तियां बाजार में उपलब्ध है.

 

मोमबत्ती बनाने का तरीका Mombatti Banane Ka Tareeka

मोमबत्ती बनाने के लिए मोम की जरुरत पड़ती है. जितने मोमबत्तियां बनानी हो उसी हिसाब से मोम लेना होता है. मोमबत्ती बनाने के लिए जो तेल हम खाने में प्रयोग करते हैं उसकी भी जरुरत पड़ती है. अगर आपको कलर मोमबत्तियां बनानी है तो रंग की भी जरुरत पड़ेगी. हल्का बटा हुआ धागा, जिसकी बत्ती बनायी जा सके.

बनाने की विधि:

मोमबत्ती को बनाने के लिए, मोम को पहले किसी बर्तन में पिघला ले. जब मोम तेल की तरह पूरी पिघल जाये तब इसका उपयोग कर सकते है. तब तक मशीन या मोमबत्ती के सांचे को साफ़ करें. और सांचे पर तेल लगाये जिससे मोम कहीं चिपके नहीं. इसके बाद सांचे में धागे को फिट करें. अब जो हमने मोम पिघलाया है उसे किसी बर्तन की सहायता से धीरे धीरे सांचे में डाले. सांचे के चारो तरफ गिरने वाले मोम को दोबारा उपयोग में ला सकते हैं. अब सांचे को किसी बर्तन में भरे पानी में डाल दें. मोम को जमने में लगभग 10-20 मिनट तक लग जाते हैं. अब सांचे में मोम पूरी तरह से जम चुकी है इसे सांचे को पानी से निकाल कर उसके दोनों तरफ के धागे को काट दें.
बाद में सांचे का क्लिप खोलकर मोमबत्ती को निकाल ले.

आप इस तरह से मोमबत्ती को बना सकते है यह बहुत ही आसान तरीका है. मोमबत्ती बनाते समय सांचे में धागा कसा है या नहीं ये जरुर सुनिश्चित करलें. मोम को तब तक गर्म करें जब तक वह पिघल ना जाये जैसे ही वह पिघल जाये उसे तुरंत उतार ले. उसे उबाले नहीं.
इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें. जिससे जो भी यह व्यापार करना चाहता हो उसे थोड़ी मदद मिल सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.