Cancer Ka Desi ilaj – कैंसर का आयुर्वेदिक इलाज उपचार

0
104
cancer ka desi ilaj

Cancer Ka Desi ilaj कैंसर एक ऐसी घातक बीमारी है जिसका नाम सुनते ही घबराहट महसूस होने लगती है. कैंसर का यह रोग सभी को हो सकता है. बच्चे बूढ़े, वयस्क सभी को ये रोग किसी भी उम्र में हो सकता है. कैंसर की शुरुआत एक गाँठ के रूप में होती है. जो देखने में मामूली ओए साधारण दिखाई पड़ती है लेकिन ये इतनी घातक रूप ले लेती है की इसका अंदाज़ा भी नहीं लगाया जा सकता है. कैंसर की इस गाँठ को अगर समय से पहचान लिया जाये तो इसका इलाज करके इसको समाप्त किया जा सकता है. Cancer Ka Desi ilaj समय से करना आवश्यक है.

पुरुषों में कैंसर गला, मुहं, प्रोस्टेट, फेफड़ो, जीभ, और ओरल कैंसर हो सकता है. महिलाओं में ये गर्भाशय, ब्रेस्ट कैंसर, पित्ताशय, मस्तिष्क, और थायराइड के कैंसर की संभावना बहुत अधिक होती है. कैंसर ला इलाज समय से किया जाये तो इससे बचा जा सकता है.

Cancer Ka Desi ilaj – Cancer Treatment in Hindi

शरीर में ऐसे बहुत से सेल्स होते है जो ख़राब होते हैं. बॉडी में हर समय पुराने या ख़राब सेल्स ख़त्म होते रहते हैं और नए सेल्स का निर्माण होता रहता है. कैंसर होने पर सफ़ेद रक्त कणिकाओं और लाल रक्त कणिकाओं का संतुलन अच्छा नहीं रहता. जिससे सेल्स की बढ़ोत्तरी नियंत्रण से अधिक बाहर हो जाती है. कैंसर के सेल्स अन्य सेल्स के लिए घातक होते रहते है. कैंसर सेल्स शरीर में नए बीमार कैंसर सेल्स बनाते हैं. जो जिस अंग में ये सेल्स बनते हैं. उस अंग को बहुत अधिक प्रभावित करते हैं.

Cancer ke Lakshan – कैंसर के लक्षण – Symptoms of Cancer in Hindi

  • मुहं में छाले होना, मुहं सुकड़ना, मुहं का पूरा न खुलना
  • निरंतर कमर में दर्द होना
  • ब्रेस्ट में गाँठ बनना
  • शरीर के अन्य किसी भाग में गाँठ बनना
  • शोच में परेशानी आना
  • मूत्र करने में परेशानी होना
  • खाना चबाने में और निगलने में परेशानी होना
  • सुनने में परेशानी होना
  • सिरदर्द में दर्द रहने लगना
  • याददाश्त कमजोर होना

कैंसर के कारण Cancer Causes in Hindi

  • नमक के अधिक सेवन से पेट का कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है.
  • अधिक मोटापा भी कैंसर के होने का खतरा बन सकता है.
  • हेपेटाइटिस बी और HIV के वायरस से भी कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है.
  • सेहत के लिए अधिक आयल का सेवन नुकसान दायक होता है. भोजन पकाने के लिए ओलिव आयल, मूंगफली आयल, कोकोनट आयल आदि का सेवन करना आवश्यक होता है.
  • गर्भ निरोधक गोलियों के अधिक सेवन और लम्बे समय तक सेवन करने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर और लीवर कैंसर का खतरा अधिक हो जाता है. साथ ही हार्ट की समस्या भी बढ़ती जाती है.
  • ऐसी बहुत सी महिलाएं हैं जो अपने बच्चों को स्तनपान नहीं कराती ऐसी महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक होता है.
  • शराब के अधिक सेवन से कैंसर की आशंका अधिक हो जाती है. शराब पीने से ओरल कैंसर, गले का कैंसर, पेट का कैंसर आदि की संभावना अधिक बढ़ जाती है. शराब और सिगरेट एक साथ पीने पर कैंसर का ख़तरा सो गुना अधिक बढ़ जाता है.
  • तम्बाकू, पान मसाला, सुपारी, खैनी,  आदि  के सेवन से मुहं के कैंसर की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है.

Cancer Ka Desi ilaj – कैंसर का देसी इलाज

1. हल्दी कैंसर के इलाज के लिए बहुत ही गुणकारी मानी जाती है. खाने में हल्दी का सेवन रोजाना करना चाहिए, हल्दी बीमार सेल्स को बढ़ने से रोकती है. मुहं के कैंसर के लिए हल्दी बहुत ही फायदा देती है.

2. देसी गाय का मूत्र कैंसर के इलाज के लिए बहुत ही गुणकारी मानी जाती है. कैंसर होने पर रोजाना गो मूत्र का सेवन करने से कैंसर को ख़त्म किया जा सकता है.

3. सुबह के समय की सूरज की रौशनी कैंसर पीड़ित के लिए बहुत ही अच्छी होती है.

4. ग्रीन टी का सेवन लीवर कैंसर को कम करता है. ग्रीन टी मुहं, गले, पेट और ब्रेस्ट कैंसर में भी बहुत ही लाभकारी है.

5. सोयाबीन सेहत के लिए लाभकारी होती है. सोयाबीन का सेवन करें या इससे बनी चीजों का सेवन करें इससे प्रोस्टेट कैंसर और स्तन कैंसर की संभावना बहुत कम हो जाती है.

6. अधिक पानी बहुत ही फायदेमंद सिद्ध होता है. इसलिए अधिक से अधिक पानी पियें. रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर रख दें सुबह इस पानी को खाली पेट पिए. यह कैंसर को तो राहत देगा ही साथ ही साथ अन्य रोगों में भी फायदा पहुंचाएगा.

7. हरी सब्जियों का सेवन जरुर करें. ब्रोकली, फूलगोभी, पत्तागोभी में कैंसर से लड़ने के सेल्स पाये जाते हैं. जो कैंसर को दूर करने में सक्षम हैं.

Cancer Ka Desi ilaj के द्वारा कैंसर जैसे घातक रोग में लाभ मिलेगा. अच्छे स्वास्थ के लिए खानपान बहुत ही ज्यादा अहम् होता है इसलिए खान पीन का विशेष ध्यान रखें. इस पोस्ट को शेयर जरुर करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.