Antivirus kya hota hai & Antivirus कैसे काम करता है

0
593

Antivirus kya hota hai, Antivirus kaise install kare

Antivirus kya hota hai & Antivirus कैसे काम करता है

Antivirus क्या होता है यह कैसे काम करता है Antivirus के फायदे और नुकसान:
दुनिया भर में मोबाइल और कंप्यूटर के इस्तेमाल करने बालो की संख्या अनगिनत होती जा रही है. मोबाइल और कंप्यूटर का उपयोग दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है. मोबाइल और कंप्यूटर में होने वाला डाटा हमारी मर्जी से चलता है जिस चीज को हम चलाना चाहे वह ही चलेगा. जैसे मोबाइल या कंप्यूटर में ऑडियो, विडियो, या कोई जरुरत की फाइल सब हमारी मर्जी से ही चलते है. और हम इसका इस्तेमाल आसानी से करते है. क्या आपने कभी सोचा है कि जिस डाटा का प्रयोग हम अपनी मर्जी से कर रहे हैं, उसे कोई दुसरा आपकी मर्जी के बिना चोरी करके चला ले या उस जरुरत की फाइल को डिलीट कर दे तो आप क्या करेंगे. आपको इसकी वजह भी नही पता होगी की यह कैसे खराब हो गया. इसका एक ही कारण है. कंप्यूटर में या फ़ोन में डेटा खराब होने के सिर्फ कुछ ही कारण होते हैं और जिनमें सबसे बड़ा कारण होता है वायरस. वायरस ही हमारे कंप्यूटर और मोबाइल को खराब करता है. इसी परेशानी से बचने के लिए हम एंटीवायरस का उपयोग करते हैं. “Antivirus kya hota hai Antivirus kaise install kare”

एंटीवायरस क्या होता है: What is an Antivirus Software

एंटीवायरस एक ऐसा प्रोग्राम है जो कंप्यूटर में आने वाले वायरस को डिलीट करता है. और आने वाले वायरस को कंप्यूटर में आने से रोकता है. एंटीवायरस की ही साहयता से ही हम अपने कंप्यूटर को सुरक्षित रख सकते है. अगर आप अपने कंप्यूटर पर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं. तो आपको अपने कंप्यूटर के लिए एक एंटीवायरस की जरुरत जरुर पड़ेगी. क्योकि इन्टरनेट के माध्यम से ही कंप्यूटर पर वायरस आते हैं. इन्टरनेट पर ऐसी बहुत सारी वेबसाइट देखने को मिल जाएगी जो लोगों के कंप्यूटर में वायरस डालना और उनके कंप्यूटर को हैक करना उनके डाटा को ख़राब करना आदि काम करती हैं. ऐसे ही वायरस से बचने के लिए और अपने कंप्यूटर को सुरक्षित करने के लिए हम एंटीवायरस का उपयोग करते हैं.

Antivirus कैसे काम करता है: How Antivirus Works in Hindi
एंटीवायरस हमारे कंप्यूटर के लिए बहुत ही जरुरी होता है. यह हमारे कंप्यूटर की सभी फाइलों को स्कैन करके उसमे पाए जाने वाले वायरस को डिलीट करता है. लेकिन वायरस को स्कैन करने का तरीका या वायरस का पता लगाने का तरीका अलग-अलग होता है क्योंकि वायरस अलग-अलग तरह के होते हैं तो उन्हें डिटेक्ट करने के लिए अलग-अलग तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है. ये एंटीवायरस इतने तेज होते हैं कि कंप्यूटर में होने वाले वायरस को अच्छे से स्कैन करके उसे डिलीट करते है और कंप्यूटर को प्रोटेक्ट करते हैं.
Antivirus के फायदे: Benefits of antivirus software
एंटीवायरस इस्तेमाल करने के बहुत सारे फायदे हैं.

  • एंटीवायरस की सहायता से हम अपने कंप्यूटर या मोबाइल को सुरक्षित महसूस कर सकते है हमें फाइल चोरी या किसी भी प्रकार का खतरा नहीं रहता.
    हमारे कंप्यूटर में कब कौनसा वायरस आ जाये ये किसी को भी पता नही होता. वायरस इतना तेज होता है वह किसी भी समय कंप्यूटर पर अटैक कर सकता है. अगर कंप्यूटर में एंटीवायरस है तो वह कंप्यूटर को स्कैन करता रहता है और आने वाले वायरस की जानकारी देकर उसको डिलीट करता है.
  • हर एक फाइल को स्कैन करना:
    हमारे कंप्यूटर में बहुत सारी फाइल होती हैं. जिन्हें हम ओपन करके ही उनके बारे में जान सकते हैं कि यह फाइल किस काम की है लेकिन एंटीवायरस उस फाइल को बिना ओपन किए ही स्कैन कर लेता है. एंटीवायरस को पता चल जाता है कि कौनसी फाइल कंप्यूटर के लिए ख़तरा बन सकती है और कौनसी फाइल सुरक्षित है. बाद में एंटीवायरस वायरस वाली फाइल को ढूंड कर उसे डिलीट कर देता है.
  • इन्टरनेट पर ऐसी बहुत सारी वेबसाइट है जो डाटा चुराने की कोशिश करती है उनका बस ये ही काम है कंप्यूटर में जाकर वायरस के माध्यम से पर्सनल डाटा चुराना उसे हैक करना. लेकिन एंटीवायरस सभी प्रकार के चोरो से और हैकर से बचा कर रखता है.

एंटीवायरस के नुकसान:

किसी भी चीज का कोई फायदा है तो उसका कुछ ना कुछ नुकसान भी जरुर होगा. ऐसी ही एंटीवायरस के फायदे तो बहुत है लेकिन कुछ नुकसान भी हैं.

  • कंप्यूटर को slow करता है:
    एंटीवायरस का सबसे बड़ा नुकसान कंप्यूटर की स्पीड को slow करना है. कंप्यूटर में एंटीवायरस के होने पर जब हम किसी फाइल या फोल्डर को ओपन करते है तो वह देरी से खुलता है उसकी स्पीड कम हो जाती है क्योकि एंटीवायरस जब तक उसे स्कैन नहीं कर लेता तब तक उस फाइल या फोल्डर को ओपन नहीं होने देता. जिस वजह से कंप्यूटर की स्पीड slow हो जाती है.
  • सभी एंटीवायरस एक जैसी ही होते है उनमे स्कैन करने की एक जैसी ही तकनीक होती है. अगर कोई नया वायरस आता है तो एंटीवायरस उसे स्कैन नहीं कर पाता. जिस वजह से कंप्यूटर को नुकसान हो जाता है.
  • एंटीवायरस में कोई ना कोई कमी रह जाती है और वह आपके कंप्यूटर को कभी कभी स्कैन नहीं कर पाते जैसे कि अगर कोई एंटीवायरस आपके इंटरनेट से आने वाले वायरस को स्कैन करता है तो वह एंटीवायरस आपके कंप्यूटर में किसी और तरीके से आने वाले वायरस को नहीं रोक सकता तो यह इसकी एक बहुत बड़ी कमी है.

Antivirus एंटीवायरस:

आपको कई तरह के एंटीवायरस देखने को मिल जाएगी जिसमे से कुछ फ्री होंगे तो कुछ एंटीवायरस सॉफ्टवेर को लेने के लिए पैसे खर्च करने होंगे. जैसे आप पैसे खर्च करेंगे एंटीवायरस बैसा ही काम करेगा जरुर नहीं कि महंगा एंटीवायरस अच्छा काम करे. हर एक कंपनी का एंटीवायरस अलग होता है और उनमे तकनीक भी थोड़ी अलग होती है.

  • Windows के लिए सबसे अच्छा और फ्री एंटीवायरस:
    अगर आप इन्टरनेट का उपयोग करते है तो आपको एंटीवायरस चाहिए ही. windows के लिए एक फ्री एंटीवायरस होता है जिसका नाम है Windows Defender. आपको कंप्यूटर में windows Defender updated रखना चाहिए जिससे किसी भी प्रकार का वायरस आसानी से स्कैन करके उसको डिलीट कर सके.
  • Avast Free Antivirus:
    Avast Antivirus की एक सीरीज है जिसमे आपको फ्री और पेड दोनों प्रकार के एंटीवायरस मिल जायेंगे. इनके काम करने का तरीका भी अलग है.
    Avast Free Antivirus
    Avast Internet Security
    Avast Premier
  • Avast Free Antivirus जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है यह एक फ्री एंटीवायरस है. इसमें वायरस को स्कैन करने के ज्यादा फीचर देखने को नहीं मिलते लेकिन यह भी आपके कंप्यूटर के लिए फायदा दे सकता है यह आने वाले वायरस की जानकारी देता है बाद में आप वायरस को डिलीट कर सकते है.
  • Avast Internet Security ये फ्री वाले एंटीवायरस से थोड़ा स एडवांस एंटीवायरस है. इस एंटीवायरस की सहायता से इन्टरनेट पर होने वाले कामो को सुरक्षित रखता है. फैक वेबसाइट के वायरस से बचाता है.
  • Avast Premier इन दोनों एंटीवायरस के मुकाबले आपको इसमें बहुत ज्यादा फीचर देखने को मिलेंगे. यह एडवांस एंटीवायरस सॉफ्टवेर है. लेकिन इसके लिए आपको पैसे खर्च करने होंगे. इसकी सहायता से आप अपने कंप्यूटर को पूरी तरह से सुरक्षित महसूस कर सकते हो. यह आने वाले वायरस को समाप्त कर देता है और कंप्यूटर की स्पीड में भी तेजी लाता है.
  • Kaspersky Internet Security:
    इसका उपयोग अधिकतर इन्टरनेट प्रयोग करने वाले लोग करते है यह खासकर इन्टरनेट के लिए ही बना है. जो लोग इन्टरनेट पर काम करते है तो यह एंटीवायरस फैक वेबसाइट और हैकर से बचाता है.
    उम्मीद है आपको जानकारी अच्छी लगी होगी. इसे आप ज्यादा से ज्यादा शेयर करें.
    अगर आपके पास कोई भी सुझाव या सवाल हो तो आप हमें कमेंट कर बता सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.